अच्छी खबर : इस दवा से दूर हो जायेंगे सेक्स संबंधी सारे रोग napunsakta ka treatment in hindi,napunsakta ka upchar,napunsakta ke gharelu upay,napunsakta ke lakshan in hindi, napunsakta ke liye yoga,napunsakta ke upchar,napunsakta treatment in hindi,naso ka ilaj,naso ki kamjori ka ilaj

  • By napunsakta ka treatment in hindi,napunsakta ka upchar,napunsakta ke gharelu upay,napunsakta ke lakshan in hindi, napunsakta ke liye yoga,napunsakta ke upchar,napunsakta treatment in hindi,naso ka ilaj,naso ki kamjori

Bariffa-X  ब्रीफा-एक्स
(Homeopathic Drinking Ampules)
+ BC 27 Tablets

Govt. Approved Formulation

विकसित देशों के सेक्सोलॉजिस्ट की पहली पसंद जर्मनी का होम्योपैथी फार्मुला पहली बार  भारत में निर्मित हुआ है। यह फार्मुला लगभग सभी प्रकार की मानसिक और शारीरिक कारणों से हुई लैंगिक समस्याओं का उपचार है। इस फार्मुले को भारत में पहली बार टेक्टिस इंडिया कंपनी (TEQTIS INDIA) द्वारा ब्रीफा-एक्स (BARIFFA-X) के नाम से लांच किया गया है और इसका उत्पादन देश की नामी दवा कंपनी ईमामी ग्रुप (EMAMI GROUP) की कलकत्ता स्थित एम. भट्टाचार्या एंड कंपनी केे द्वारा किया गया है।

क्या-क्या काम करता है ब्रीफा-एक्स

-अब तक बाजार में उपलब्ध दवाओं की तरह ब्रीफा-एक्स केवल एक-आध लैंगिक समस्याओं में काम करने की बजाय सभी प्रकार की समस्याओं को खत्म करता है। क्योंकि ब्रीफा-एक्स एंपुल के सिरप में ही 8 तरह की होम्यापैथिक दवाओं को मिलाकर फार्मुला बनाया गया है। यह मानसिक या शारीरिक कारणों से होने वाली मर्दाना समस्याओं, पुरुषों में तनाव की समस्या (उत्थान कम होना या न होना), समय न लगना (जल्द डिस्चार्ज हो जाना), रुकावट न होना, उन इच्छाओ की कमी, स्टेमिना की कमी, इच्छा शक्ति का अभाव, पुरुष पावर का ह्यस, संबंध बनाने में आत्म विश्वास में कमी, ज्यादा उम्र या डायबिटीज के कारण संबंध बनाने में आई कमजोरी, जोश का न आना, नसों की कमजोरी इत्यादि उन सभी समस्याओं में हर उम्र में कारगर है ! तनाव न आने के कारण छोटापन, शुक्राणु उत्पादन स्थान (अंडकोष) की समस्याओं को दूर करने में सहायक है ! शुक्राणु निर्माण को बढ़ाता है। मुख्यतया यह पुरूषों का स्टेमिना बढ़ाकर पौरूष (मर्दाना ताकत) को बनाए रखने में सहायक होता है जिससे संबंधों का समय बढऩे के साथ-साथ पूर्ण संतुष्टि प्राप्त होती है।

कैसे इस्तेमाल किया जाता है ब्रीफा एक्स ?

पहले एक सप्ताह (7 दिन) तक एक एंपुल सुबह व एक एंपुल शाम को करीब 150 से 200 मिलीग्राम पानी में मिलाकर लें। इसके बाद प्रतिदिन एक एंपुल लिया जाना चाहिए। अथवा अपने होम्योपैथिक विशेषज्ञ की सलाह से इसको प्रयोग करें। 

बायो-कॉम्बिनेशन नंबर 27

 

इसके अतिरिक्त इसके पैक में बायो-कॉम्बिनेशन नंबर 27 की 100 टेबलेट का पैक भी है जिसकी 4-4  टेबलेट को दिन में 3 बार चूसना होता है ! ये बायो-कॉम्बिनेशन टेबलेट होमियोपैथी का ही पार्ट है ! ये टेबलेट जिन साल्ट्स की कमी से प्रॉब्लम होती है उनकी डेफिशियेंसी को पूरा करती है जो की स्थाई समाधान में सहायक है !

क्या है एंपुल ?
 

-कई रिसर्च में यह सामने आया है कि प्लास्टिक की बोतलों में पैकिंग करने से दवाओं की गुणवत्ता जहां कम हो रही है वहीं कई तरह के हानिकारक कैमिकल दवाओं में मिल जाते हैं। इसलिए भारत में पहली बार होम्योपैथिक दवा की पैकिंग हेतु कांच के विशेष एंपुल में ब्रीफा-एक्स की 10 एमएल की पैकिंग (ब्रीफा-एक्स की एक बार में इस्तेमाल की मात्र 10 एमएल ही होती है) तैयार की गई है ताकि इसकी गुणवत्ता बनी रहे और इसके परिणाम सटीक मिलें।

क्या इसके कोई साइड इफेक्ट हैं ?

-ब्रीफा-एक्स में होम्योपैथिक दवाओं का मिश्रण है जो किसी प्रकार साइड इफेक्ट नहीं करता। होम्योपैथी विशेषज्ञों के अनुसार इसे बीपी व शुगर के रोगी भी अपनी नियमित दवाओं के साथ ले सकते हैं। इसलिए इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है।

ब्रीफा-एक्स कैसे काम करता है ?

कुछ दवाइयां इस थ्योरी पर काम करती है कि सेक्स दो टांगों के बीच में होता है जबकि ब्रीफा-एक्स इस थ्योरी पर काम करता है कि .........
.


0 Comment


Leave a Comment


Invalid Email